Respect the Authority of your seniors!

नमस्कार, अपने से बड़ों और सम्माननीय स्वजनों की शक्ति और सामर्थ्य का सदैव मान रखना चाहिए, भले ही वो आपको हानि पहुँचाने की स्थिति में न हों। रामायण के सुंदरकांड में महाबली हनुमान ने ऐसा ही उदाहरण तब प्रस्तुत किया जब रावण पुत्र इंद्रजीत ने उन्हें मारने के लिए ब्रह्मास्त्र का प्रयोग किया। हनुमान जीContinue reading “Respect the Authority of your seniors!”